कम नहीं हो रहा ट्रंप का कश्मीर राग, बोले- भारत चाहे तो मध्यस्थता को तैयार


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने एक बार फिर से जम्मू-कश्मीर के मसले पर मध्यस्थता की पेशकश को दोहराया है। कश्मीर मुद्दे पर बड़ा बयान देते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा है कि अगर दोंनों देस चाहें तो वह मध्यस्थता के लिए तैयार हैं। यदि वे (भारत-पाक) चाहते है कि कोई व्यक्ति इस मामले में हस्तक्षेप करे या उनकी मदद करे ... और मैंने पाकिस्तान के साथ इस बारे में बात की, और मैंने इसके बारे में भारत से खुलकर बात की। लेकिन लंबे समय से यह लड़ाई चल रही है। भारत द्वारा कश्मीर पर अमेरिका की मध्यस्थता की पेशकश को खारिज किए जाने के बाद ट्रम्प ने कहा कि यह वास्तव में पीएम मोदी पर निर्भर है। और मैं प्रधान मंत्री इमरान खान से मिला, मुझे बहुत अच्छा लगा। मुझे लगता है कि वे एक शानदार व्यक्ति हैं, खान और मोदी। मेरा मतलब है कि मैं सोचता हूं कि वे बहुत अच्छी तरह से मिल सकते हैं।