आतंक को रोकने में असमर्थ पाकिस्तान, कभी भी हो सकता है ब्लैकलिस्ट: राजनाथ


नयी दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को कहा कि वित्तीय कार्रवाई कार्यबल (एफएटीएफ) आतंकियों का वित्त पोषण करने के लिए पाकिस्तान को किसी भी समय काली सूची में डाल सकता है। अगस्त माह में एफएटीएफ के एशिया प्रशांत समूह ने पाकिस्तान को आतंक की 'काली सूची' में डाल दिया था क्योंकि वह भारत में हुए कई हमलों के लिए जिम्मेदार आतंकी समूहों तक धन पहुंचने से रोकने में विफल रहा था। सिंह ने रक्षा लेखा विभाग दिवस कार्यक्रम में कहा, '' आतंक के वित्त पोषण के लिए एफएटीएफ किसी भी वक्त पाकिस्तान को काली सूची में डाल सकता है।'' रक्षा मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान में वित्तीय प्रगति के बिना अत्यधिक सैन्यीकरण और गलत नीतियों के चलते ऐसे हालात बन गए हैं कि वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान वैश्विक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए एक विमान का बंदोबस्त तक नहीं कर पाए। सिंह का यह वक्तव्य उस पृष्ठभूमि में आया है जब इस्लामाबाद के लिए निकले खान और उनके प्रतिनिधिमंडल को मजबूरी में न्यूयॉर्क लौटना पड़ा क्योंकि सऊदी सरकार की ओर से उन्हें दिए गए विशेष जेट विमान में तकनीकी खामी आ गई थी। खान के विमान में कैनेडी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से उड़ान भरने के कुछ ही मिनटों बाद तकनीकी खामी आ गई थी।