दिवाली की छुट्टियां कैसे मनाएं, जानिए

दिवाली की छुट्टियां हर कार्यालय और स्कूल में अलग-अलग तरह से मिलती है। कुछ अतिरिक्त छुट्टियां लेकर दिवाली पर कुछ नया प्लान किया जा सकता है। कई बार ऐसा होता है कि दीपावली की छुट्टियां घर की साज सज्जा, आराम करने या योजना बनाने में ही गुजर जाती है। ऐसे में जरूरी है कि छुट्टियों में काम कम और एंजॉय ज्यादा हो। यह कैसे संभव होगा?दिवाली के पूर्व कर लें ये सारे कार्य : धन तेरस के चार दिन पहले ही घर की साज-सज्जा, रंग-रोगन, पूजा सामग्री की खीरीदी, वस्त्र खरीदना और पटाखे खरीदना आदि का काम निपटा लें। ऐसा करने से धन तेरस और दिवाली के दिन आपके पास भरपूर समय होगा। बस धन तेरस पर आपको सोना, चांदी या बर्तन ही खरीदने बाजार जाना होगा। ऐसे में आप धनतेरस, नरक चतुर्थी, पड़वा या भाईदूज पर कहीं घुमने का प्लान भी बना सकते हैं।जो लोग मनाते हैं घर पर ही दिवाली : अधिकर लोग अपने घर पर ही दिवाली मनाते हैं। ऐसे लोग भी अच्छे से समय को मैनेज कर सकते हैं, जैसे धन तेरस पर दिन में खरीदारी के दौरान बाहर ही भोजन का लुप्त उठा सकते हैं। दूसरा नरक चतुर्दशी को सुबह जल्दी उठकर कहीं घुमने का प्लान बना सकते हैं।तीसरे दिन दिवाली पर दिन में घर पर ही रहकर अच्छे से दिवाली का त्योहार मनाएं। यदि आप पूजा में जितनी देर करेंगे उतना कम लुफ्त उठा पाएंगे लोगों से मिलने और पटाखे छोड़ने में, तो बेहतर होगा कि आप शाम को जो सबसे पहला मुहूर्त हो उसी में लक्ष्मीजी की पूजा अच्छे से कर लें।दीवाली के दूसरे दिन आप अपने घर पर ‍'दिवाली मिलन समारोह' का आयोजन करके अपने रिश्‍तेदारों को आमंत्रित कर सकते हैं या आप सभी से मिलने उनके घर जा सकते हैं। कुछ लोग इस दिन गोवर्धन पूजा और अन्नकूट का आयोजन करते हैं। दीवाली के तीसरे दिन अर्थात भाईदूज पर आप अपनी बहन या भाई के घर जाकर इस त्योहार को मना सकते हैं।जो लोग जाते हैं घर से बाहर : बहुत से ऐसे लोग हैं जो कि अपने शहर से बाहर या अपने प्रदेश से बाहर किसी अन्य प्रदेश या शहर में नौकरी कर रहे हैं उन्हें तो लंबी छुट्टी की आवश्यकता होती है। ऐसे में वे लोग अपने परिवार के साथ ही अपने नगर चले जाते हैं। यदि वे लोग छुट्टियों को अच्छे से प्लान करें तो दीपावली को अपने घर पर पूजा-पाठ करने के बाद कहीं घुमने जा सकते हैं।


कुछ बदलाव भी कर सकते हैं :
कुछ ऐसे लोग हैं जो कि सोचते हैं कि इस बार की दिवाली कहीं ओर मनाई जाए। वे लोग अपने गांव चले जाते हैं या किसी खास रिश्‍तेदार के यहां दिवाली मनाते हैं। आप भी ऐसा कर सकते हैं। इस बार की दिवाली आप अपने संयुक्त परिवार के सभी सदस्यों के साथ मिलकर मना सकते हैं या किसी खास जगह पर एंजॉय कर सकते हैं।

 

दिवाली का मनोरंजन :
यदि आपने घर के जरूरी कार्य पहले ही निपटा लिए हैं तो आप दिवाली के त्योहार को अच्‍छे से एंजॉय कर सकते हैं। अधिकरत लोग इस त्योहार पर नए-नए पकवान बनाकर खाते हैं और कुछ लोग इस दिन जुआं खेलते हैं। कई क्षेत्रों में तो दिवाली पर मेला भी लगता है। ग्रमीण क्षेत्रों में मवेशियों को अच्‍छे से सजाया जाता है और कई तरह के खेलों का आयोजन भी होता है।