पंजाब में दीवाली से पहले धमाकों का खतरा, पाक ड्रोन केस में एक और आतंकी काबू, गुरदासपुर में तीन सं‍दग्‍ध पकड़े

अमृतसर, जेएनएन। पंजाब में दीपावली या उससे पहले बड़े आतंकी धमाकों का खतरा है। इसके मद्देनजर पुलिस और सुरक्षा बलों को अलर्ट कर दिया गया है। सुरक्षा एजेंसियों को आशंका है कि पाकिस्‍तान से बारुद और विस्‍फोटक यहां आ चुका है। इसके साथ ही पंजाब को दहलाने के लिए जर्मनी से भी फंडिंग हुई है। गिरफ्तार किए गए खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (केजेडएफ) के आतंकियों से पूछताछ में इस संबंध में कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं। उधर, पंजाब पुलिस की स्‍टेट स्‍पेशल सेल ने हथियार लेकर आए पाकिस्‍तानी ड्रोन मामले में एक और आतंकी को पकड़ा है। इस मामले में अब तक नौ आतंकी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इसके साथ ही गुरदासपुर रेलवे स्‍टेशन से तीन सं‍दिग्‍ध लोगों को हिरासत में लिया गया है। शुक्रवार को दोपहर बाद गुरदासपुर सिटी पुलिस ने रेलवे स्टेशन से तीन संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया। इसके बाद से पुलिस अधिकारियों में गतिविधियां एक दम से बढ़ गई हैं, लेकिन फिलहाल कोई भी कुछ बताने को तैयार नहीं है उधर, शुक्रवार को स्टेट स्पेशल आपरेशन सेल ने पाकिस्तान से हथियार लेकर आए ड्रोन को नष्ट करने और हथियार ठिकाने लगाने के मामले में शुक्रवार को एक और आतंकी रोबिन जीत को हिरासत में लिया हैI बताया  जाता है कि अभी तक पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी नहीं डाली हैI पुलिस ने बॉर्डर के साथ बसे गांवों के दर्जनभर संदिग्धों को भी राउंडअप किया हैI पूछताछ की जा रही है कि ड्रोन ठिकाने लगाने में कितने लोग शामिल थेI दूसरी ओर पहले गिरफ्तार किए गए आतंकियों से पूछताछ में खुलासा हुआ है कि आतंकियों को पंजाब में विस्‍फोट के लिए जर्मनी से दस लाख रुपये की फंडिंग हो चुकी है। पकड़े गए आतंकियों से पूछताछ में यह जानकारी मिलने के बाद खुफिया एजेंसियों की चिंता बढ़ गई है। भारत-पाक सीमा पर लगातार मिल रही हेरोइन और हथियारों की खेप के बाद सुरक्षा एजेंसियों ने आशंका जताई है कि आइएसआइ व पाक में बैठे खालिस्तान समर्थकों ने भारत में बारूद की खेप भेज दी है। बताया जाता है कि सुरक्षा एजेंसियों को इनपुट मिले हैं आइएसआइ व पाकिस्‍तान में रह रहे खालिस्तान समर्थकों द्वारा भारत में बारूद की खेप भेजने की आशंका दीवाली या फिर दीवाली से पहले पंजाब में धमाके का षडयंत्र रचा जा रहा है। पूरे मामले में कोई भी अधिकारी खुलकर बताने को तैयार नहीं है। उधर, वीरवार की शाम स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल द्वारा गिरफ्तार सात आतंकियों को कोर्ट में पेश किया गया। न्यायाधीश मीनाक्षी महाजन ने सातों को नौ अक्टूबर तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।