बड़ी खबर, कमजोर पड़ा 'महा' तूफान, गुजरात में 70 से 90 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी हवा


गांधीनगर। अरब सागर में उठा अति गंभीर तूफान महा कुछ और कमजोर पड़ कर अब मात्र गंभीर श्रेणी के तूफान के तौर पर गुजरात की ओर बढ़ रहा है और तट के कुछ और निकट पहुंच गया है। हालांकि इसके तेजी से कमजोर होकर एक सामान्य तूफान के तौर पर पूर्व अनुमान से कुछ देरी से कल दोपहर तक निकटवर्ती दीव तट के आसपास जमीन से टकराने (लैंडफॉल) की संभावना है।


यह पूर्व के अनुमान से कम यानी लगभग 70 से 90 किमी प्रति घंटे तक चलने वाली हवाओं के साथ तट से टकरा सकता है। आज सुबह साढ़े पांच बजे यह पोरबंदर से 450 किमी तथा दीव से 540 किमी पश्चिम दक्षिणपश्चिम में स्थित था। यह 15 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है।



इन जिलों में होगी भारी बारिश : मौसम विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार यह कल दोपहर दीव तट के आसपास तट से टकरायेगा। इसके प्रभाव से आज अहमदाबाद, राजकोट, सूरत, भरूच, जूनागढ़, गिर सोमनाथ, अमरेली, भावनगर, बोटाद और पोरबंदर जिलों में भारी से अति भारी वर्षा तथा कल अहमदाबाद, आणंद, सूरत, भरूच, वडोदरा, बोटाद और भावनगर जिलों में इस तरह की वर्षा होने की संभावना है।



सुरक्षा के कड़े इंतजाम : इस बीच राज्य सरकार का तंत्र संभावित राहत और बचाव कार्य के लिए पूरी तरह तैयार है। एक अधिकारी ने बताया कि तटीय इलाकों में एनडीआरएफ की 30 कंपनियां तैनात की जायेंगी। राहत और बचाव केंद्र भी बनाए गए हैं। लोगों समुद्र तटीय इलाकों में नहीं जाने देने के लिए एहतियाती उपाय किए जा रहे हैं।



सौराष्ट्र क्षेत्र से लगे केंद्रशासित प्रदेश दीव में भी तूफान के टकराने की आशंका के चलते व्यापक तैयारियां की गए है। वहां एनडीआरएफ की पांच कंपनियां तैनात की जा रही हैं। तटवर्ती इलाकों से पर्यटकों और अन्य लोगों को हटने के आदेश दिए गए हैं। ऐसे क्षेत्रों में पुलिस भी तैनात की जा रही है। मौसम विभाग से तूफान के बारे में और सूचना मिलने पर स्थानांतरण का काम भी किया जायेगा।



मैच पर भी संकट के बादल : उधर, मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने मौजूदा परिस्थिति में कल राजकोट में भारत और बांग्लादेश के बीच होने वाले टी-20 क्रिकेट मैच देखने के अपने कार्यक्रम को रद्द कर दिया है। इस मैच पर भी मौसम के चलते खतरा मंडरा रहा है।