दिल्ली में विधानसभा चुनाव की तैयारियों की निर्वाचन आयोग ने समीक्षा की


नयी दिल्ली। निर्वाचन आयोग ने दिल्ली में विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा के लिये राज्य निर्वाचन कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर मतदाता सूचियों को अद्यतन करने सहित अन्य कामों का जायजा लिया। आयोग के आधिकारिक सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि दिल्ली निर्वाचन कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सोमवार को हुयी बैठक में मतदाता सूचियों में नये मतदाताओं के नाम शामिल कराने और संशोधन आदि कामों को समय से पूरा किये जाने की समीक्षा की गयी। वरिष्ठ उप चुनाव आयुक्त संदीप सक्सेना की अध्यक्षता में हुयी बैठक में चुनाव खर्च, मीडिया और अन्य विषयों से संबद्ध आयोग के महानिदेशक के अलावा दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी, दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारीऔर स्थानीय निकायों सहित अन्य संबद्ध विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया। दिल्ली के एक चुनाव अधिकारी ने बताया कि बैठक में सभी विभागों को स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव संपन्न कराने के लिये उपयुक्त कार्ययोजना बनाकर इस दिशा में अधिकारियों और कर्मचारियों को संजीदगी से अपने उत्तरदायित्व के निर्वहन के लिये प्रशिक्षित करने को कहा गया है। उल्लेखनीय है कि दिल्ली विधानसभा का कार्यकाल अगले साल 22 फरवरी को पूरा हो रहा है। इसके लिये अगले दो महीने में चुनावी तैयारियों को मुकम्मल कर चुनाव प्रक्रिया को पूरा करने का लक्ष्य है। आयोग ने दिल्ली के अधिकारियों को नये मतदाताओं को अधिक से अधिक संख्या में मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज कराने के लिये जागरुकता शिवर लगाने और मतदाता बनने की प्रक्रिया का सहज एवं सुविधाजनक पालन सुनिश्चित करने को कहा है। संशोधित मतदात सूची के प्रारूप मसौदे का प्रकाशन 15 नवंबर तक किया जाना है। अंतिम मतदाता सूची का प्रकाशन छह जनवरी 2020 को किया जायेगा। दिल्ली विधानसभा चुनाव में मतदाता बनने के लिये एक जनवरी 2020 तक आवेदन किये जा सकेंगे।  चुनाव आयोग द्वारा दिव्यांग और 80 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों को डाक मतपत्र से मतदान की सुविधा प्रदान किये जाने के बाद इसका पहली बार पालन दिल्ली विधानसभा चुनाव से ही किया जायेगा। इसके मद्देनजर सक्सेना ने दिल्ली के अधिकारियों को ऐसे मतदाताओं की पहचान सुनिश्चित कर इन्हें मतदान संबंधी सभी जरूरी सुविधायें मुहैया कराने के इंतजाम करने को भी कहा है।