गुरु नानक देव का 550वां प्रकाश पर्व धूमधाम से मनाया गया

देहरादून।  गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य पर देहरादून के रेसकोर्स स्थित गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा में मंगलवार को भाई गुरुदेव सिंह रागी ने कलयुग बाबे तारिया, सतनाम पढ़ मंत्र सुनाया...सबद गायन किया। जिसे सुन वहां मौजूद समूचे सिख समुदाय के लोग मंत्रमुग्ध हो गए। वहीं, सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सिख समुदाय के लोगों को गुरुपर्व की शुभकामनाएं दी। 


गुरुपर्व के इस पावन अवसर महापौर सुनील उनियाल गामा गुरुद्वारे में नतमस्तक हुए। इस दौरान हेड ग्रंथी भाई शमशेर सिंह ने कहा कि गुरुनानक देव ने जात-पात, ऊंच नीच जैसे भ्रमों से आजाद करवाया। इस दौरान स्कूली बच्चों ने भी सबद गायन किया। गुरु सिख एजुकेशन सोसायटी की ओर से होनहार बच्चो को सम्मानित किया गया। इस दौरान हजारों की संख्या में संगत ने लंगर खाया।


श्री गुरु नानक देव का 550वां प्रकटोत्सव नगर तथा आसपास क्षेत्र में श्रद्धा पूर्वक मनाया गया। गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहब में सुबह से ही दरबार साहब ने मत्था टेकने के लिए श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। यहां रागी जत्थों की ओर से शब्द कीर्तन प्रस्तुत किया गया। देहरादून से आए भाई देवेंद्र सिंह के साथ जत्थे ने कीर्तन की प्रस्तुति दी। संगत की उपस्थिति में अखंड पाठ का भोग लगाया गया। इस दौरान नगर निगम की महापौर अनीता ममगाई ने दरबार साहब में हाजरी लगाई। उन्होंने कहा कि गुरु नानक देव जी का संपूर्ण जीवन एवं दर्शन अन्याय शोषण सामाजिक असमानता से संघर्ष करने की प्रेरणा देता है। उनका जीवन अध्यात्म जीवन की राह दिखाता है गुरुद्वारा मैनेजमेंट ट्रस्ट के उपाध्यक्ष उत्तराखंड के पूर्व अध्यक्ष अल्पसंख्यक आयोग नरेंद्र जीत सिंह बिंद्रा ने बताया कि इस वर्ष नानक देव का 550वां जन्मोत्सव और अधिक धूमधाम से मनाया जा रहा है। 18 से 20 नवंबर तक श्री भरत मंदिर इंटर कॉलेज सभागार में गुरु नानक देव के जीवन दर्शन पर लाइट और साउंड शो का आयोजन किया गया है। इस दौरान गुरुद्वारा के प्रबंधक सरदार दर्शन सिंह, पूर्व पालिकाध्यक्ष दीप शर्मा, गन्ना एवं चीनी विकास औद्योगिक बोर्ड के अध्यक्ष भगतराम कोठारी, जीएमवीएन के उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार सिंघल, मदन मोहन शर्मा, विनोद शर्मा आदि मौजूद रहे। वहीं, शिक्षानगरी रुड़की के गुरुद्वारों में गुरु नानक देव का 550वां प्रकाश पर्व धूमधाम एवं श्रद्धापूर्वक मनाया गया। सिविल लाइंस स्थित गुरुद्वारा सत्संग सभा में गुरु नानक देव के प्रकाशोत्सव के मौके पर सर्वप्रथम अखंड पाठ साहिब का भोग लगाया गया। इसके बाद हजूरी रागी जत्थे सुनील सिंह एवं बक्शी सिंह ने गुरु वाणी के मनोहर कीर्तन से संगतों को निहाल किया। पोंटा साहिब से आए पंथ प्रसिद्ध रागी चरणजीत सिंह और उनके साथियों ने भी गुरबाणी कीर्तन एवं गुरु साहेब के जीवन पर प्रकाश डाला। सभी को गुरु नानक देव के बताए गए मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया। वहीं बीटी गंज स्थित गुरुद्वारा गुरु सिंह सभा में भी गुरु नानक देव का प्रकाश पर्व श्रद्धापूर्वक मनाया जा रहा है। गुरुद्वारे में अखंड पाठ का भोग लगाने के बाद अमृतसर दरबार से आए रागी जत्थों ने कीर्तन किया। गुरुद्वारे में मत्था टेकने के लिए काफी संख्या में संगत पहुंच रही है। इसके अलावा रामनगर के कलगीधर गुरुद्वारे में भी गुरु नानक देव की जयंती धूमधाम के साथ मनाई गई।